Sunday, 10 April 2016

जब पनामा पेपर्स का ब्योरा सामने आएगा तो कांग्रेस जश्न नहीं मना पाएगी: जेटली

 ‘पनामा पेपर्स’ लीक मामले में कई एजेंसियों की जांच जारी होने के बीच वित्त मंत्री अरुण जेटली ने रविवार को कहा कि जब इस मामले का ब्योरा सामने आएगा तो कांग्रेस के पास इसका जश्न मनाने के बहुत कारण नहीं रहेंगे। पनामा पेपर्स में कथित तौर पर भारतीयों के विदेशी कर पनाहगाहों में निवेश की बात सामने आई है।
उन्होंने यह भी कहा कि ‘बेहद निष्पक्ष तरीके से’ जांच चल रही है और कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) की मांगों को खारिज कर दिया कि उन्हें खुद को मामले से अलग कर लेना चाहिए।

लीक दस्तावेजों में नामित एक व्यक्ति का करीबी होने के आधार पर खुद को मामले से अलग कर लेने की विपक्ष की मांग से जुड़े एक सवाल के जवाब में जेटली ने कहा, ‘मुझे उनकी दलील समझ में नहीं आई।’ वह यहां प्रेस क्लब में प्रदेश भाजपा द्वारा आयोजित मीडिया संवाद में संवाददाताओं से बातचीत कर रहे थे।
जांच की निष्पक्षता से जुड़े सवाल पर केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘यह बेहद निष्पक्ष है और कई एजेंसियां जांच कर रही हैं। जब विवरण सामने आएंगे तो कांग्रेस के पास जश्न मनाने का कारण नहीं बचेगा।’ कांग्रेस और आप ने जेटली पर पनामा पेपर्स मुद्दे पर निशाना साधा है और विदेशी कर पनाहगाह में कुछ भारतीयों के कंपनी बनाने के आरोपों की न्यायिक जांच की मांग की है। उन्होंने जेटली को मामले से अलग कर लेने की मांग की है क्योंकि उसके बगैर निष्पक्ष जांच संभव नहीं है, क्योंकि जेटली इस दस्तावेज में नामित एक व्यक्ति के करीब हैं।