Sunday, 6 March 2016

एशिया कप टी-20 खिताब पर भारत ने किया कब्जा, बांग्लादेश को 8 विकेट से हराया

एशिया कप टी20 क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल मैच में बांग्लादेश ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 15 ओवर में पांच विकेट खोकर 120 रन बनाए। बांग्लादेश की ओर से महमुदुल्लाह ने विस्फोटक पारी खाली। महमुदुल्लाह ने 13 गेंद में 33 रन बनाए। जबकि शब्बीर रहमान ने 29 गेंद में 32 रन की पारी खेली। तमीम इकबाल और सौम्या सरकार ने बांग्लादेश को एक सधी शुरुआत दी। तमीम 13 और सरकार 14 रन बनाकर आउट हुए। शाकिब अल हसन ने 21 रन बनाए। शब्बीर और महमुदुल्लाह नाट आउट रहे।
मीरपुर : शिखर धवन की विस्फोटक बल्लेबाजी की बदौलत भारत ने रविवार को एशिया कप के फाइनल में बांग्लादेश को आठ विकेट से हरा दिया। बांग्लादेश के 121 रन के लक्ष्य को भारत ने 13.5 ओवर में हासिल कर लिया। धवन ने 44 गेंदों में 60 रन बनाए। जबकि विराट कोहली ने 28 गेंदों में 41 रन और कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने 6 गेंदों में 20 रन बनाए। कोहली और धोनी नाट आउट रहे। वहीं, रोहित शर्मा का खराब फार्म एक बार फिर देखने को मिला। रोहित मात्र एक रन बनाकर चलता बने। भारत छठी बार एशिया कप का चैंपियन बना है।
एशिया कप टी20 क्रिकेट टूर्नामेंट के फाइनल मैच में बांग्लादेश ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 15 ओवर में पांच विकेट खोकर 120 रन बनाए। बांग्लादेश की ओर से महमुदुल्लाह ने विस्फोटक पारी खाली। महमुदुल्लाह ने 13 गेंद में 33 रन बनाए। जबकि शब्बीर रहमान ने 29 गेंद में 32 रन की पारी खेली। तमीम इकबाल और सौम्या सरकार ने बांग्लादेश को एक सधी शुरुआत दी। तमीम 13 और सरकार 14 रन बनाकर आउट हुए। शाकिब अल हसन ने 21 रन बनाए। शब्बीर और महमुदुल्लाह नाट आउट रहे। 
भारत की तरफ से अश्विन, बुमराह, जडेजा और नेहरा ने एक-एक विकेट लिए। भारत की तरफ से हार्दिक पांड्या सबसे महंगे साबित हुए। हार्दिक ने तीन ओवर में 35 रन दिए।
इससे पहले भारत ने टास जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। बारिश के खलल के कारण मैच को 15 ओवर कर दिया गया।
भारत ने तीन बदलाव करते हुए भुवनेश्वर कुमार, हरभजन सिंह और पवन नेगी की जगह आशीष नेहरा, रविचंद्रन अश्विन और रविंद्र जडेजा को टीम में शामिल किया है।
इससे पहले आज शाम को हल्की बारिश हुई जिसके बाद मैदानकर्मियों ने पिच और इसके आसपास के क्षेत्र को कवर कर दिया।
कुछ देर बाद जब मैदानकर्मियों ने आसपास के कवर हटाए तो अचानक आंधी चलने लगी जिसके बाद टीवी कर्मचारी, कमेंटेटर और खिलाड़ी बचने के लिए दौड़ने लगे और पिच को ढकने वाले भारी कवर उड़ गए। इसके बाद लाइटें भी बंद हो गई जिससे स्टेडियम में अंधेरा छा गया।
शेर ए बांग्ला स्टेडियम की ड्रेनेज सुविधा शानदार है जैसा कि 2014 विश्व टी20 फाइनल के दौरान देखने को मिला था जब मैच नियमित समय से 45 मिनट देर से शुरू हुआ लेकिन मैदानकर्मियों ने मैदान तैयार कर दिया।